top of page
Search

बाकुची इस्तेमाल करने के फायदे

बाकुची (Bakuchi) क्या है -


बाकुची एक ऐसी जड़ी बूटी है जिसको खाने से कई बीमारियों से आपको राहत मिलेगी हम आपको बता दे बाकुची के के पौधे की आयु एक वर्ष होती है लेकिन सही देखभाल करने से बाकुची का पौधा 4-5 वर्ष तक जीवित रह जाते हैं। बाकुची की बीजों से बने तेल और पौधे को चिकित्सा के लिए प्रयोग में लाया जाता है। बाकुची के फूल ठंड के मौसम में लगते हैं और गर्मी में फलों में बदल जाते हैं।



बाकुची के फायदे जानिए कैसे -


बाकुची के प्रयोग से दांतों के रोग में आराम मिलता है जैसे आपके दांतो में कीड़ा लगा है और आपको बहुत दर्द है इसको खाने से आपको दर्द में आराम मिलेगा


जिन लोगो को सांस लेने में परेशानी होती है उसे इस जड़ी बूटी को जरूर खाना चाहिए और इसको बनाने की विधि है आधा ग्राम बाकुची बीज चूर्ण को अदरक के रस के साथ दिन में 2-3 बार सेवन करें। इससे सांसों के रोग में लाभ होता है।

बाकुची के पत्ते का साग सुबह-शाम नियमित रूप से कुछ हफ्ते खाने से दस्त में बहुत लाभ होता है। और ये जड़ी बूटी गर्मियो में बहुत असरदार होती है इसका सेवन करने से आपको दस्त और पेट दर्द की बीमारिया नहीं होती है |


बाकुची के वैसे तो कई फायदे है ये ऐसी जड़ी बूटी होती है जो आयुर्वेदिक होती है और इसको इस्तेमाल करने से आपको ये बीमारियां दोबारा नहीं होती है इसको आप एक और तरीके से खा सकते है आप 2 ग्राम हरड़, 2 ग्राम सोंठ और 1 ग्राम बाकुची के बीज लेकर पीस लें। आधी चम्मच की मात्रा में गुड़ के साथ सुबह-शाम सेवन करने से बवासीर में लाभ होता है।

बाकुची का उपयोग गर्भधारण रोकने के लिए भी किया जा सकता है। जो महिलाएं गर्भधारण नहीं करना चाहती हैं वे मासिक धर्म से शुद्ध होने के बाद बाकुची के बीजों को तेल (BAKUCHI Oil) में पीसकर योनि में रखें। इससे गर्भधारण करने की क्षमता समाप्त हो जाती है।



37 views0 comments

Recent Posts

See All

Comments


bottom of page